Thursday, 3 June 2010

गजल

चीजे जखन बेकार छैक कमार की करतैक
लोहार कि करतैक सोनार की करतैक


खेत त छैक मुदा खेतिए नहि
सुखाड़ कि करतैक दहार की करतैक


भावना दबल हो जतए पाइक तरें
प्यार की करतैक लचार की करतैक


टीस बढ़ए त आशीष लग आउ
चिन्हार की करतैक अनचिन्हार की करतैक

1 comment:

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों