शुक्रवार, 30 अप्रैल 2021

गजल

फरेबक नियम मुँहजबानी बतेलक
मरबकेँ विकासक निशानी बतेलक

अपन खर्चकेँ मानि बैसल जरूरति
हमर खर्चकेँ ओ फुटानी बतेलक

जखन तर्क मँगलहुँ तकर बाद बुझलहुँ
अपौरुष कहीं आसमानी बतेलक

नरेटी दबेलक कियो आबि चुप्पे
कियो आबि चुप्पे कहानी बतेलक

कनी बात ठोकर सिखा गेल हमरा
कनी बात ई बुद्धिमानी बतेलक

सभ पाँतिमे 122-122-122-122 मात्राक्रम अछि आ ई बहरे मुतकारिब मुस्समन सालिम अछि। सुझाव सादर आमंत्रित अछि।

 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों