Sunday, 26 March 2017

रुबाइ

देखू कनैत कनैत धार बनि गेलहुँ
दुनियाँमे रहितो अनचिन्हार बनि गेलहुँ
हम काँट छलहुँ कोनो रस्ता परहँक
हुनक पएरमे गड़ि कचनार बनि गेलहुँ 

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों