Monday, 18 April 2011

रुबाइ

हम नै हँसब मुसकि के रहि जायब
हम नै कानब सिसकि के रहि जायब
नै ये जो लिखल विधना केर बरसनाय
भादो के मेघ छि गरजि के रहि जायब

3 comments:

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों