Monday, 16 January 2012

गजल

मरण अतs अटल छै
जीवन कतs सरल छै

बुझि जे इ मर्म गेलैक
जन्म हुनक सफल छै

कर्म के पुजैत दुनिया
लोकक भाग्ये प्रबल छै

बाँहि स कतौ बुत्ता होय
दर्द सहै से सबल छै

मजबूर के लूटि लिअ
कतsक बाहुबल छै

"रौशन"बना लिअ गुट
अतs सबहक दल छै

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों