Wednesday, 25 January 2012

गजल



आइ हमर मोन एतेक उदास किएक
पानि लग रहितो मोनमे पिआस किएक

प्रभात संग पूनम आएत आस किएक
नै आएत से सोचि मोन उदास किएक

सिनेहक सागरमे हम नहेलहुँ नहि
तखन मिलन लेल मोन उदास किएक

हम प्रगाढ़ प्रेमक पराग लेलहुँ नहि
आइ प्रीतम मोन एतेक हतास किएक

हम मधुर मुस्कान संग हँसलहुँ नहि
आइ दिवा-स्वपन एतेक मिठास किएक



वर्ण--१६

1 comment:

  1. bahut bahut dhanyabaad apanek e rachnak sanshodhan karbak hetu

    ReplyDelete

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों