Tuesday, 26 February 2013

रुबाइ

रुबाइ-162

ने नोर खसि रहल ने हँसी फूटि रहल
आँखिक सामने जखनसँ घर टूटि रहल
देखैत देखैत बताह भेल छै मोन
आतंकक छाह तऽर यदि बम फूटि रहल

1 comment:

  1. बहतरीन प्रस्तुति बहुत उम्दा ..भाव पूर्ण रचना .. बहुत खूब

    आज की मेरी नई रचना जो आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार कर रही है

    ये कैसी मोहब्बत है

    खुशबू

    ReplyDelete

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों