Friday, 12 October 2012

गजल

बाल गजल-56

जाड़ एलै आ पावनि तिहार एलै 
गाम घरमे सबहक लेल भार एलै

हमर आँगन कौआ खूब बाजि रहलै 
फोन एलै बाबू जी बिहार एलै

नै कतौ हम जेबै आइ एतऽ रहबै 
भेट करबै पहिले ई विचार एलै

हमर नवका कपड़ा बैग भरल एलै 
कार एलै खेलौना हजार एलै

आब बाबू जीकेँ संग खेल करबै 
प्यार एलै जीवनमेँ बहार एलै

फाइलातुन-मफऊलातु-फाइलातुन
2122-2221-2122

© अमित मिश्र

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों