Tuesday, 18 October 2011

गजल

करेजा हमर काटि लेलक ओ हन्सैत हन्सैत
प्रेम पाश मे ओझरा देलक ओ हन्सैत हन्सैत

अज्ञानी के प्रेमी बना देलक ओ हन्सैत हन्सैत
चंचलता के गंभीर केलक ओ हन्सैत हन्सैत

आब नीन चैन उड़ा देलक ओ हन्सैत हन्सैत
प्रेमक पाठ त पढ़ा देलक ओ हन्सैत हन्सैत

गेल विदेश अलग केलक ओ हन्सैत हन्सैत
हमरा कना के छोडि देलक ओ हन्सैत हन्सैत

मिलन विरह मिला देलक ओ हन्सैत हन्सैत
जीवनक मोल सिखा देलक ओ हन्सैत हन्सैत

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों