Wednesday, 15 August 2012

रूबाइ


रूबाइ-117

जनमसँ मृत्यु धरि कानैत रहै छै मनुख
कर्मक बीच पड़ल जड़ैत रहै छै मनुख
टूटै छै कनेक चोटसँ वर्षक रिश्ता
प्रियजन विरहमे पसिझैत रहै छै मनुख

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों