Monday, 5 March 2012

रुबाइ

तरसैत करेज बेरंग अछि देह भरल गुलाल
अहांक रंगके चाहत मे ई करेज रहल बेहाल
करेज रहल बेहाल ई गीत रहल बिनसुनल
प्रीत रस फुहार बिना तन्नुक प्रेम मरल अकाल

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों