Monday, 30 July 2012

गजल






बाल-गजल-१०

एकदिन हमरो हेतइ मकान

एकदिन हमरो हेतइ बथान


एकदिन हमहुँ कीनब समान

हमरो घर बनतै पू-पकवान


एकदिन हमहुँ बुलबइ चान

अंतरिक्ष मे हेतै हमरो दलान


सभकेयो अपने केयो नहि आन

हमहुँ बनबै गाँधी सन महान


विद्या-वैभव के लेल अनुसंधान

करय जे "चंदन" बनय महान

-----------वर्ण-१३---------

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों