Monday, 14 January 2013

रुबाइ

रुबाइ-153

ज्वालामे अहाँक जड़ि जेबाक मन होइछ
कारी नैनमे गड़ि जेबाक मन होइछ
बस एक्कै बेर मीठ बोली सूनितौंह
आ तखने हँसति मरि जेबाक मन होइछ

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों