Monday, 14 January 2013

रुबाइ

रुबाइ-136

विद्रोहक आगि जड़िते रहै घी ढारू
आशक लावा बनैत रहै बालु जाड़ू
सुनगत जा धरि करेज ता धरि जीबित छी
तेँ बेसी मृदु बनि अपनाकेँ नै मारू

No comments:

Post a Comment

तोहर मतलब प्रेम प्रेमक मतलब जीवन आ जीवनक मतलब तों